खबरे |

खबरे |

नूह हिंसा में AAP नेता पर FIR, बजरंग दल नेता की हत्या का आरोप
Published : Aug 6, 2023, 6:30 pm IST
Updated : Aug 6, 2023, 6:30 pm IST
SHARE ARTICLE
 AAP files FIR against Nuh violence, accused of killing Bajrang Dal leader
AAP files FIR against Nuh violence, accused of killing Bajrang Dal leader

यह मामला गुरुग्राम के सोहना में दर्ज किया गया है. हालांकि, जावेद का कहना है कि यह मामला गलत है क्योंकि वह उस दिन इलाके में नहीं थे.

चंडीगढ़: हरियाणा के नूह में हिंसा के दौरान जिस सहारा होटल पर पथराव हुआ था, उसे प्रशासन ने तोड़ दिया है. रविवार को कड़ी पुलिस सुरक्षा के बीच होटल पर बुलडोजर चलाकर उसे पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया। रविवार को लगातार तीसरे दिन नूह में अवैध निर्माण तोड़े जा रहे हैं। पुलिस और प्रशासन का कहना है कि ये सभी 31 जुलाई की हिंसा में शामिल दंगाइयों से संबंधित हैं या दंगा फैलाने के लिए इनका इस्तेमाल किया गया था.

वहीं, नूह हिंसा के दौरान गुरुग्राम के प्रदीप शर्मा की मौत के मामले में पुलिस ने आम आदमी पार्टी (आप) नेता जावेद अहमद समेत 150 लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया है. यह मामला गुरुग्राम के सोहना में दर्ज किया गया है. हालांकि, जावेद का कहना है कि यह मामला गलत है क्योंकि वह उस दिन इलाके में नहीं थे.

जावेद के खिलाफ दर्ज एफआईआर में पवन ने कहा कि 31 जुलाई की रात 10.30 बजे वह कार में सवार होकर नूह से सोहना जा रहा था. इस बीच नूह पुलिस ने हमारी मदद की और हमें केएमपी हाईवे तक छोड़ा. हमसे कहा कि आगे का रास्ता साफ है, निकल जाओ.

उन्होंने बताया कि जब वह निरंकारी कॉलेज के पास पहुंचे तो वहां 150 लोग खड़े थे. उनके हाथों में पत्थर, लोहे की रॉड और पिस्तौलें थीं. इनमें जावेद भी मौजूद थे.

जावेद के कहने पर गुस्साई भीड़ ने हम पर हमला कर दिया. हमारी गाड़ी पर पत्थर फेंके गए. जिससे कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा गई। उन्होंने कहा कि जब गोलियां चलने लगीं तो पुलिस वहां आ गयी. उन्होंने गणपत और मुझे भीड़ से बाहर निकाला और भीड़ प्रदीप को लाठियों से पीटती रही. गंभीर हालत में उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

वहीं, जावेद अहमद पर केस दर्ज होने के बाद आप हरियाणा के नेता अनुराग ढांडा ने आगे कहा कि जावेद अहमद जो हमारी पार्टी के नेता हैं, उनके खिलाफ झूठी एफआईआर दर्ज की गई है. जबकि जावेद उस जगह से लगभग 100-150 किमी दूर था जहां घटना हुई थी। उनके पास इसके पूरे सबूत हैं और मोबाइल की लोकेशन भी। हमने ये सारे सबूत भी पुलिस के सामने रखे हैं. हम चाहते हैं कि पूरी जांच हो और जांच उचित नतीजे पर पहुंचे.

ढांडा ने सवाल उठाते हुए कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि दंगों से पहले बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को वहां से हटाकर वीआईपी ड्यूटी पर क्यों लगाया गया. कई बड़े अधिकारियों की छुट्टियां मंजूर कर ली गईं. सीबीआई ने मुख्यमंत्री को एक रिपोर्ट भेजी थी जिसमें घटना का विवरण दिया गया था कि मुख्यमंत्री ने इसे नजरअंदाज क्यों किया।

इसकी जांच होनी चाहिए कि क्या इसके पीछे मुख्यमंत्री या अन्य भाजपा नेता हैं। बता दें कि 31 जुलाई को सोहाना के निरंकारी चौकी के पास बजरंग दल कार्यकर्ता प्रदीप कुमार की हत्या के मामले में आप नेता जावेद अहमद को आरोपी बनाया गया है. दो अगस्त को थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी. 


 

SHARE ARTICLE

ROZANASPOKESMAN

Advertisement

 

\"ਪੰਜਾਬ ਨੂੰ Ignore ਕਰਕੇ ਸਾਡੇ ਲੋਕਾਂ ਨਾਲ ਦੁਸ਼ਮਣੀ ਕੱਢੀ ਗਈ\"

24 Jul 2024 5:39 PM

ਕੈਨੇਡਾ ਤੋਂ ਵਾਪਸ ਆਉਣਗੇ ਪੰਜਾਬੀ! ਬੇਰੁਜ਼ਗਾਰੀ ਨਾਲ ਮਚੀ ਹਾਹਾਕਾਰ, ਭਾਰਤੀਆਂ \'ਤੇ ਕਿੰਨਾਂ ਅਸਰ ਦੇਖੋ ਰਿਪੋਰਟ

24 Jul 2024 5:35 PM

ਬਠਿੰਡਾ ਦੇ ਲੋਕਾਂ ਨੇ ਕੇਂਦਰੀ ਬਜਟ ’ਤੇ ਜਤਾਈ ਨਿਰਾਸ਼ਾ.. ਕਹਿੰਦੇ “ਸ਼ੋਸ਼ੇਬਾਜ਼ੀ ਹੈ ਕੇਂਦਰੀ ਬਜਟ”, ਸੋਨਾ-ਚਾਂਦੀ ਦੀ ਥਾਂ..

24 Jul 2024 5:32 PM

Canada, Australia, UK, USA ਦਾ ਲਗਵਾਓ ਵੀਜ਼ਾ, ਨਾਲੇ ਕੰਮ ਦੀ ਵੀ ਫੁੱਲ ਗਰੰਟੀ, ਘੱਟ ਪੈਸਿਆਂ \'ਚ ਸਿਰਫ਼ 30 ਸਕਿੰਟ..

24 Jul 2024 5:29 PM

Splitsvilla X5 ਅਤੇ Roadies fame Digvijay ਅਤੇ Unnati ਤੋਂ ਸੁਣੋ finale ਤੋਂ ਪਹਿਲਾ ਕਿਉਂ Sunny Leone ਹੋਏ

22 Jul 2024 6:02 PM

ਪੰਜਾਬੀ ਸੂਟ \'ਚ Tripti Dimri ਨੇ ਬਿਖਰਿਆ ਆਪਣਾ ਜਲਵਾ, ਬੁਲਾਈ ਸਾਰਿਆਂ ਨੂੰ ਸਤਿ ਸ਼੍ਰੀ ਅਕਾਲ

22 Jul 2024 6:01 PM