खबरे |

खबरे |

जानिए कब है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस, इतिहास और महत्व
Published : Mar 6, 2024, 6:44 pm IST
Updated : Mar 7, 2024, 4:29 pm IST
SHARE ARTICLE
Know when is International Women's Day, history and importance news in hindi
Know when is International Women's Day, history and importance news in hindi

पहला अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फरवरी, 1909 को न्यूयॉर्क में कपड़ा श्रमिकों की हड़ताल की याद में मनाया गया

International Women's Day news in hindi: हम सभी के जीवन का हर रिश्ता एक महिला से जुड़ा होता है चाहे वह महिला मां, बेटी, बहन या पत्नी हो। महिलाओं के सम्मान में हर साल अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाता है। देखा जाए तो महिलाओं के लिए हर दिन खास होना चाहिए लेकिन इस दिन को खासतौर पर महिलाओं के संघर्ष और समर्पण को सराहने और सम्मानित करने के लिए मनाया जाता है। ऐसी कई कहावतें है जिसमें कहा जाता है कि "हर सफल आदमी के पीछे एक महिला होती है", तो ऐसे में इनके समर्पण को सम्मानित करने के लिए एक दिन काफी नहीं है।

तो चलिए आज इसके बारे में जानते है कि हर साल इस दिन को मनाने का महत्व और इसका इतिहास,..

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास

जानकारी के मुताबिक अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाने का चलन बीसवीं सदी में शुरू हुआ। इसी दिन उत्तरी अमेरिका और यूरोप में श्रमिक आंदोलन की शुरुआत हुई थी। आपको बता दें कि पहला अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फरवरी, 1909 को न्यूयॉर्क में कपड़ा श्रमिकों की हड़ताल की याद में मनाया गया था। इस बीच, महिलाओं ने कठिन और क्रूर काम के खिलाफ आवाज उठाई थी।

यह किस दिन मनाया जाता है?

इसके बाद, 1945 में, संयुक्त राष्ट्र चार्टर इस नियम को स्थापित करने वाला पहला अंतर्राष्ट्रीय समझौता बन गया कि पुरुष और महिला दोनों समान हैं। संयुक्त राष्ट्र ने 8 मार्च 1975 को आधिकारिक तौर पर अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को मान्यता दी। तभी से महिलाओं के सम्मान में पूरे देश में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। जिसके बाद से इस दिन को मनाने की परंपरा शुरू हुई।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का महत्व

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाना विशेष माना जाता है क्योंकि यह दिन उन महिलाओं का सम्मान करता है जिन्होंने अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाई है। इस दिन का मुख्य उद्देश्य लोगों को लैंगिक समानता और महिलाओं के समान अधिकारों के बारे में जागरूक करना है ताकि समाज किसी भी प्रकार के भेदभाव से मुक्त रहे। इस दिन महिलाओं पर हो रहे अत्याचार और हिंसा के खिलाफ आवाज उठाई जाती है। इस दिन लोग अपने जीवन की खास महिलाओं को कई तरह से खास महसूस कराकर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाते हैं। इसलिए हर किसी को अपने साथ काम करने वाली महिलाओं के साथ-साथ अपने घर की महिलाओं का भी सम्मान करना चाहिए। वहीं महिलाओं को सम्मान और सुरक्षित माहौल देना सभी का कर्तव्य है।

(For more news apart from International Women's Day, history and importance news in hindi, stay tuned to Rozana Spokesman) 

SHARE ARTICLE

ROZANASPOKESMAN

Advertisement

 

ਡਾਕਟਰ ਬਣ ਰਹੇ ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦੇ ਲੱਗੇ ਲੱਖਾਂ ਰੁਪਏ ਤੇ ਹਾਲ ਸੁਣੋ ਕਿੰਨਾ ਮਾੜਾ... MBBS ਵਿਦਿਆਰਥੀਆਂ ਦੇ ਹੱਕ \'ਚ...

18 Jul 2024 1:14 PM

ਟਰੈਕਟਰਾਂ ਦੇ ਸਟੰਟ ਕਰਕੇ ਚਲਾਉਂਦਾ ਸੀ ਘਰ ਦਾ ਗੁਜ਼ਾਰਾ, ਕਿਸੇ ਵੇਲੇ ਹੜ੍ਹ ਪੀੜਤਾਂ ਦੇ ਬਣਾਏ ਘਰ

18 Jul 2024 1:12 PM

Big Breaking: ਭਾਰਤ \'ਚ ਨਵੇਂ ਵਾਇਰਸ ਨੇ ਦਿੱਤੀ ਦਸਤਕ, ਹੁਣ ਤੱਕ 8 ਲੋਕਾਂ ਦੀ ਮੌ.ਤ, ਦਿਮਾਗ ਤੇ ਕਰਦੀ ਹੈ ਵੱਡਾ ਅਸਰ

17 Jul 2024 5:47 PM

\'\'Sidhu Moose Wale ਦੇ ਗੀਤ ਬਿੱਲ ਬੋਰਡ ਤੱਕ ਵੱਜਦੇ ਨੇ ਸਾਡੇ ਲਈ ਕਿੰਨੀ ਮਾਣ ਵਾਲੀ ਗੱਲ ਹੈ\'\' - Ammy Virk

17 Jul 2024 5:43 PM

Farmers Protest | ਹਰਿਆਣੇ ਦੇ ਕਿਸਾਨਾਂ ਦੀ ਗ੍ਰਿਫਤਾਰੀ ਮਗਰੋਂ ਕਿਸਾਨਾਂ ਨੇ ਹਾਈਵੇਅ \'ਤੇ ਕੀਤਾ ਇਕੱਠ |

17 Jul 2024 5:39 PM

30-35 ਲੱਖ ਲਗਾ ਕੇ ਕੈਨੇਡਾ-ਆਸਟ੍ਰੇਲੀਆ ਜਾਣ ਦੀ ਬਜਾਏ ਯੂਰਪ ਦੇ ਇਨ੍ਹਾਂ 26 ਦੇਸ਼ਾਂ ਦੀ ਲਓ ਸੌਖੀ PR

17 Jul 2024 3:15 PM